IPL 2021 बायो बबल में कैसे घुसा कोरोना? अधिकारियों ने बताए संभावित कारण और की पॉजिटिव मामले बढ़ने की भविष्यवाणी

नई दिल्ली. कोविड -19 महामारी (Coronavirus) पूरे देश में जंगल की आग की तरह फैल गई है. इंडियन प्रीमियर लीग 2021 (IPL) के दौरान क्रिकेटर्स अपने-अपने बायो बबल में बने रहे और इस खराब समय में लोगों को अपने खेल से खुशी देने की कोशिश करते दिखाई दे रहे थे. हालांकि, टी20 लीग ऐसे माहौल में खुद को भी इस वायरस से सुरक्षित नहीं रख सकी. कई खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ के कई पॉजिटिव मामले सामने आने के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने आईपीएल के 14वें सीजन को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने का फैसला लिया.

कुछ मैचों के पुनर्निर्धारण के साथ-साथ पूरी लीग को मुंबई में ले जाने की संभावना पर चर्चा की गई, ताकि इस स्थिति से निपटने के उपायों पर विचार किया जा सके लेकिन बीसीसीआई को खतरे का अहसास हो गया. संभवतः कई जगह पर आईपीएल बायो-बबल का उल्लंघन किया गया था, जिसकी वजह से कई खिलाड़ी और सपोर्ट स्टाफ कोविड-19 पॉजिटिव हो गए.

ऐसे में बोर्ड के पास कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा और सीजन के शेष 31 मैचों को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया. हालांकि क्रिकेट प्रेमियों के बीच सवाल है कि सीजन कब शुरू होगा, लेकिन संभावना है कि जांच करने पर और खिलाड़ी, कोच, सपोर्ट स्टाफ पॉजिटिव मिल सकते हैं. लेकिन सभी के मन में एक सवाल है कि आखिर सुरक्षित बायो बबल में वायरस की घुसपैठ हुई कैसे?
बीसीसीआई के टॉप अधिकारी ने इस लीग को लेकर इंडियन एक्सप्रेस से कहा, ”सच पूछिए, तो बायो-बबल के भीतर कोविड-19 के पॉजिटिव मामले सामने आते ही चीजें शुरू हो गई थीं. हम नहीं जानते कि अगले कुछ दिनों में कितने खिलाड़ी, कोच और सपोर्ट स्टाफ कोरोना वायरस टेस्ट में पॉजिटिव आएंगे. सुरक्षित बायो बबल अब अस्तित्व में नहीं था और हर कोई चिंतित था. हमारे पास कोई विकल्प नहीं था. हम टूर्नामेंट को जारी नहीं रख सकते थे.”

जब आईपीएल गवर्निंग काउंसिल के अध्यक्ष बृजेश पटेल से पूछा गया कि आखिर बायो बबल में वायरस कहां से आया, जिससे खिलाड़ी संक्रमित हुए तो उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर में इस वायरस की प्रकृति काफी ज्यादा खतरनाक है. यही वजह है कि हम इस हालात में पहुंचे. उन्होंने न्यूज 18 से कहा, ”मैं नहीं जानता. इससे पहले कोविड-19 की पहली लहर के दौरान यह कहा गया था कि यदि आप सामाजिक दूरी बनाए नहीं रखते हैं या मास्क नहीं पहनते हैं, तो वायरस फैल जाएगा. अगर आप सामाजिक दूरी बनाकर रखते हैं तो ठीक है. लेकिन अब कोरोना वायरस की दूसरी लहर में यह वायरस हवा से फैल रहा है. हम नहीं जानते कि खिलाड़ियों को यह कहां से लगा. वैसे तो बायो बबल काफी अच्छा और सुरक्षित है. हम जानने की कोशिश कर रहे हैं कि ऐसा कैसे हुआ.”

भारत में फैल रहे म्यूटेंट कोविड-19 वायरस ने दुनिया को चिंतित कर दिया है. कई देशों ने भारत से यात्रियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है और सभी यात्री उड़ानों को निलंबित कर दिया है. ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर से कोच बने माइकल हसी संक्रमित होने वालों में शामिल हैं. ऐसे में विदेशी खिलाड़ियों को सुरक्षित घर पहुंचाने के लिए बीसीसीआई खुद काफी मुश्किल स्थिति में है. इस लुभावनी लीग से जुड़े विदेशी खिलाड़ी अपने देशों में लौटने को लेकर चिंतित हैं क्योकि भारत में घातक महामारी फैलने के कारण कई देशों ने यात्रा पाबंदियां लगाई हैं. बीसीसीआई इससे पहले भी विदेशी खिलाड़ियों की सुरक्षित वापसी का आश्वासन दे चुका है.

कुछ दिन पहले ऑस्ट्रेलिया के तीन खिलाड़ियों के हटने के बाद आईपीएल में इस देश के 14, न्यूजीलैंड के 10 और इंग्लैंड के 11 खिलाड़ी बचे हैं. दक्षिण अफ्रीका के 11, वेस्टइंडीज के नौ, अफगानिस्तान के तीन और बांग्लादेश के दो खिलाड़ी भी आईपीएल के लिए भारत में हैं. न्यूजीलैंड क्रिकेट (एनजेडसी) ने इस स्थिति से निपटने में बीसीसीआई की क्षमता पर भरोसा जताया है.

source:news18
0Shares
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: