IPL 2021: डेविड वॉर्नर के साथ हुए व्यवहार पर भड़के गावस्कर, बोले- कोचों के साथ ऐसा क्यों नहीं होता?

नई दिल्ली. इंडियन प्रीमियर लीग का 14वां सीजन (IPL 2021) कोविड-19 महामारी की वजह से बीच में ही निलंबित करना पड़ा. आईपीएल 2021 के बायो बबल में कोरोना वायरस की घुसपैठ के बाद यह फैसला लिया गया. आईपीएल स्थगित होने से पहले इस टूर्नामेंट ने फैन्स और क्रिकेट एक्सपर्ट्स को चर्चा के कई विषय दिए. इन सबके बीच चर्चा का सबसे बड़ा विषय था- सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) का डेविड वॉर्नर को कप्तान के पद से बर्खास्त करना. वॉर्नर को सिर्फ कप्तानी से ही नहीं हटाया गया, बल्कि उन्हें प्लेइंग इलेवन से भी ड्रॉप कर दिया गया.

हालांकि, डेविड वॉर्नर (David Warner) को सनराइजर्स हैदराबाद की कप्तानी से हटाने के मुद्दे पर राय अलग-अलग है. ऐसे में भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर को लगता है कि कोचों को भी वैसा ही ट्रीटमेंट दिया जाना चाहिए, जब टीमें ऐसे वक्त से गुजरती हैं. स्पोर्टस्टार के लिए लिखे अपने कॉलम में सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने लिखा, ”सनराइजर्स हैदराबाद को कप्तान के रूप में डेविड वार्नर को न सिर्फ बर्खास्त करने, बल्कि उन्हें प्लेइंग इलेवन से बाहर करने के अपने फैसले के बारे में भी सोचने का समय मिलेगा.”

उन्होंने लिखा, ”डेविड वॉर्नर रन बना रहे थे, लेकिन पिछले साल की तरह आक्रामकता के साथ नहीं. लेकिन फिर भी उनके वह रन दूसरे खिलाड़ियों का सपोर्ट मिलने के बाद काफी कीमती थे. फिर भी उन्हें प्लेइंग इलेवन से ड्रॉप कर दिया गया, जो हैरान करने वाला था. कप्तानी की परवाह किए बिना, वह टीम की जरूरत के मुताबिक बल्लेबाज हो सकते थे.” उन्होंने आगे लिखा, ”जबकि कप्तान के रूप में उन्हें हटाने के अधिकारों और गलतियों पर लंबे समय तक बहस हो सकती है. इस बीच यह सवाल पूछा जाना चाहिए कि क्या कप्तानों को बीच में बदला जा सकता है. कोचों के साथ इसी तरह का व्यहार क्यों नहीं होता?
गावस्कर ने कहा, ”फुटबॉल में अगर टीम का परफॉर्मेंस गिरना शुरू होता है तो सबसे पहले मैनेजर को बाहर का रास्ता दिखाया जाता है. तो फिर क्रिकेट में ऐसा क्यों नहीं?” आईपीएल 2021 स्थगित होने से पहले सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ऐसी थी, जो सिर्फ एक मैच ही जीत पाई थी. टीम ने सात मैच खेले थे, जिनमें से 6 में उन्हें हार सामना करना पड़ा था. हालांकि, बहुत सी टीमें इस तरह आईपीएल 2021 के इस तरह स्थगित होने से परेशान होंगी, क्योंकिन उनकी जीत की लय बन गई थी. ऐसे में गावस्कर को लगता है कि हैदराबाद को टूर्नामेंट के निलंबित होने से राहत मिलेगी, क्योंकि वे जिस तरह दौड़ में बने हुए थे वह काफी निराशाजनक था.

सुनील गावस्कर ने आगे लिखा, ”सनराइजर्स हैदराबाद की शुरुआत एक बुरे सपने की तरह रही और टूर्नामेंट के स्थगित होने से उन्हें राहत मिली होगी. आईपीएल 2021 का स्थगन टीम के लिए एक आशीर्वाद हो सकता है, जिसमें वे शांत होकर इस बारे में सोच सकते हैं.”

source:news18

0Shares
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: