करियर के बुरे दौर को लेकर खुलकर बोले श्रेयस तलपड़े, कहा- दोस्तों ने ही पीठ में छुरा घोंपा

श्रेयस तलपड़े बॉलीवुड का एक ऐसा नाम हैं जिन्होंने अपने एक्टिंग स्किल को एक बार नहीं बल्कि कई फिल्मों में शानदार अभिनय के जरिए साबित किया है. लेकिन पिछले कुछ वक्त से धीरे धीरे वो फिल्मी पर्दे से दूर होते चले गए. इकबाल, अपना सपना मनी मनी, ओम शांति ओम, गोलमाल 3 और हाउसफुल 2 समेत कई ऐसी सफल फिल्में हैं जिनमें उन्होंने यादगार रोल निभाए है. हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान श्रेयस ने अपने फिल्मी करियर के बुरे दौर के बारे में बात भी की है.

श्रेयस ने याद किया करियर का बुरा दौर

इंटरव्यू के दौरान श्रेयस ने अपनी प्राइवेट लाइफ के अलावा फिल्म करियर के एक्सपीरियंस शेयर किए हैं. अहम बात ये है कि फिल्म ‘इकबाल’ के अलावा शायद ही कोई ऐसी फिल्म है जिसे सिर्फ श्रेयस की फिल्म कहा जा सके. इसे लेकर श्रेयस तलपड़े ने कहा अगर एक सोलो फिल्म चल नहीं पाती है तो ये मानना कतई ठीक नहीं है कि बाकी फिल्में भी नहीं चलेंगी. मेरी कई सोलो फिल्म हैं जिन्होंने काफी अच्छा किया है. हालंकि मेरे पास खुद की मार्केटिंग करने की क्षमता ना होना इसके पीछे एक बड़ा कारण है. उन्होंने कहा कि दरअसल मेरी विचारधारा है कि आपको सिर्फ अपने काम की वजह से काम मिलना चाहिए.

दोस्तों ने पीठ में छुरा घोंपा है

श्रेयस ने कहा कि मैं जानता हूं कि कुछ स्टार्स हैं जो मेरे साथ स्क्रीन शेयर करना सेफ नहीं मानते हैं. शायद यही वजह है कि वो मुझे अपनी फिल्मों में नहीं लेना चाहते हैं. मैंने कई फिल्में सिर्फ दोस्ती के नाते की हैं लेकिन दोस्तों ने ही मेरी पीठ में छुरा घोंपा है. उन्होंने कहा कि जितने लोगों को आप जानते हैं उनमें सिर्फ 10 फीसदी ही आपकी अच्छी परफॉर्मेंस पर खुश होते हैं. श्रेयस तलपड़े इंटरव्यू के दौरान कहा कि अमिताभ बच्चन जैसे स्टार को भी बुरा दौर देखना पड़ा था. शायद मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही घट रहा है. मैं डिप्रेस होता हूं तो याद करता हूं कि मैं वो ही हूं जिसने इकबाल जैसी फिल्म की थी.

source:abpnews

0Shares
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: