Financial Planning: इन टिप्स से मुश्किल वक्त के लिए जमा कर सकते हैं पैसा

इस वक्त देश कोरोना का कहर झेल रहा है. हर कोई आर्थिक नुकसान झेल रहा है. कई लोगों की नौकरी चली गई है तो कई लोगों को खुद के व्यापार में भारी नुकसान हुआ है. ऐसे बुरे वक्त में सबसे ज्यादा दिक्कत उनको हो रही है जि्होंने ऐसे बुरे वक्त के लिए समय पर पैसे नहीं बचाए. ऐसे में आगे किसी भी तरह की मुसिबत में आप आर्थिक रूप से थोड़े सिक्योर रहें इसके लिए आज हम अपनी इस स्टोरी में आपको पैसों की प्लानिंग के बारे में बताने जा रहे हैं.

सबसे पहले तो आपको बचत से भी पहले इस बात का आंकलन करना होगा कि अगर आपकी नौकरी चली जाए या आपकी आमदनी रुक जाए तो इस स्थिति में आप कितने दिन तक अपने घर का खर्च चला सकते हैं. इसके साथ ही इस बात का आंकलन भी करें कि अगर पैसों की जरूरत पड़ गई तो इंतजाम कहां से करेंगे.  आपके पास अगर अगले 3 साल से उससे ज्यादा समय तक का पैसा है तो आप अपने आप को सुरक्षित मान सकते हैं अगर आपके पैसे इससे पहले खत्म हो रहे हैं तो आप मुश्किल में पड़ सकते हैं.

गैर जरूरी खर्चें रोकें
कोरोना काल में अगर आपके पास पर्याप्त पैसे नहीं हैं तो सबसे पहले आपको उन खर्चों को रोक देना चाहिए जो जरूरी नहीं हैं. जितना हो सकें उतना पैसा बचाएं. केवल जरूरी चीजों पर ही पैसा खर्च करें.

इस्तेमाल ना हो रहीं चीजें बेच सकते हैं
काम ना आने वाले असेट्स को लिक्विडेट करना बेहतर रहता है. पैसों का इंतजाम करने के लिए आप अपने काम ना आने वाले चीजों बेच सकते हैं जैसे कि ऐसी ज्वैलरी जिसे आप पहनते न हों या घर का फर्नीचर और दूसरी ऐसी चीजें जिनका आप इस्तेमाल नहीं करते. इसी तरह डोरमेंट हो चुके बैंक खाते, पीपीएफ खाते आदि को चेक करें और उन्हें भी बंद करें.

वित्तिय लक्ष्य की समीक्षा करें
लोग अपने वित्तिय लक्ष्य को पहले से ही तय कर लेते हैं. शादी, बच्चों की पढ़ाई, घर का कोई सामान खरीदने जैसी चीजों का बजट लोग पहले ही बना लेते हैं. मुश्किल वक्त में आप अपने वित्तिय लक्ष्यों की समीक्षा करें और ये देखें की इनमें से क्या कम किया जा सकता है. बच्चों की पढ़ाई से जुड़े किसी खर्च में कटौती न करें लेकिन बाकी खर्चों की समीक्षा जरूर करें.

पैसे को सुरक्षित करें
कोरोना काल में जल्दी पैसा बढ़ाने की न सोचें. बल्कि इस बात की चिंता करें की आपका पैसा कितना सुरक्षित रहता है. आपने अगर शेयर बाजार में अधिक पैसे लगाएं हैं तो उसे बैलेंस करें, कुछ पैसे म्यूचुअल फंड, कुछ एफडी आदि में लगाए। कुछ पैसे सेविंग्स अकाउंट में जरूर रखें  ताकि आपात स्थिति में पैसे तुरंत निकाले जा सके.

source:abpnews

0Shares
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: