CBSE 12th Result: 12वीं की परीक्षा रद्द होने के बाद क्या? जानें पांच बड़े सवालों के जवाब

नई दिल्ली. सीबीएसई के 12वीं की परीक्षाएं रद्द किए जाने के बाद छात्रों और अभिभावकों के मन में कई तरह के सवाल उठ रहे हैं. उनकी नजर अब रिजल्ट तैयार होने की प्रक्रिया और मार्किंग के फार्मूले पर है. अभिभावकों और छात्रों को अभी तक महामारी के बीच में परीक्षा को लेकर चिंता थी, लेकिन अब उनकी नजर रिजल्ट, उसके क्राइटेरिया और आगे देश-विदेश के विश्वविद्यालयों में एडमिशन पर है. 12वीं की परीक्षा से जुड़े कई ऐसे सवाल हैं, जिनका जवाब मिलना अभी बाकी है. आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ सवालों के जवाब…

बिना परीक्षा के कैसे पास होंगे 12वीं के छात्र

सीबीएसई के 12वीं की परीक्षा रद्द करने के बाद सरकार ने कहा है कि बोर्ड रिजल्ट तैयार करने को लेकर पारदर्शी और निष्पक्ष तरीका अपनाएगा. बोर्ड इसकी जानकारी जल्द देगा. इस संबंध में सीबीएसई की ओर से भी नोटिस जारी की जा चुकी है. जिसमें उसने कहा है कि जल्द ही छात्रों को पास करने का फॉर्मूला पेश किया जाएगा. हालांकि 10वीं की तरह 12वीं के छात्रों को भी इंटर्नल असेसमेंट के आधार पर पास किए जाने की संभावना है. इसके अलावा नौवीं, 10वीं में किए गए परफॉर्मेंस को भी शामिल किया जा सकता है. सीबीएसई ने 10वीं के छात्रों को पास करने के लिए जो फॉर्मूला अपनाया था. वहीं 12वीं में भी लागू हो सकता है. इसमें 20 अंक इंटर्नल असेसमेंट, 80 अंक पूरी क्लास के दौरान हुए टेस्ट या दूसरे पेपर को मिलाकर दिए जा सकते हैं.

परीक्षा रद्द होने के बाद भी पेपर देना चाहें तो?सीबीएसई ने 12वीं के छात्रों को बिना परीक्षा के पास करने के साथ उन्हें पेपर देकर पास होने का भी विकल्प दिया है. जो छात्र असेसमेंट नहीं चाहते या इस प्रक्रिया से संतुष्ट नहीं होंगे, वह परीक्षा दे सकेंगे. उनके लिए कोविड महामारी की स्थिति समाप्त होने के बाद परीक्षा देने की व्यवस्था की जाएगी. बोर्ड द्वारा इसकी भी विस्तृत जानकारी जल्द ही दी जाएगी.

ग्रेजुएशन में किस तरह होगा एडमिशन

सीबीएसई के 12वीं का रिजल्ट जुलाई के आखिर तक जारी कर दिए जाने की संभावना है. ऐसे में छात्र कई ऐसे शैक्षणिक संस्थानों में आवेदन कर सकते हैं, जहां रिजल्ट बाद में मांगा जाता है. रिजल्ट जारी होने के बाद मार्कशीट सबमिट करनी होगी. कई विश्वविद्यालयों में एडमिशन अगस्त और सितंबर तक ओपन रहता है. ऐसे में ग्रेजुएशन में एडमिशन में बहुत दिक्कत नहीं आएगी. लेकिन रिजल्ट में और अधिक देरी होने पर मुश्किलें आ सकती हैं.

विदेश में पढ़ाई करने के इच्छुक छात्रों का क्या होगा

12वीं के छात्र पहले की ही तरह विदेशों में पढ़ाई के लिए एप्लाई कर सकते हैं. विदेशों में कई शैक्षणिक संस्थान ऑनलाइन एंट्रेंस टेस्ट आयोजित करते हैं. एंट्रेंस क्लीयर करने के बाद 12वीं का फाइनल रिजल्ट मांगा जाएगा. आमतौर पर विदेशों में एकेडमिक सेशन जुलाई-अगस्त में शुरू होता है. यह देखना होगा कि वहां फाइनल मार्कशीट कब तक सबमिट की जा सकती है.

किस-किस बोर्ड ने रद्द की हैं 12वीं की परीक्षाएं

सीबीएसई और सीआईएससीई के अलावा हरियाणा बोर्ड ने भी 12वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी हैं. इसके अलावा यूपी बोर्ड, एमपी, राजस्थान, महाराष्ट्र, झारखंड जैसे राज्यों द्वारा भी परीक्षाएं रद्द करने की संभावना है. ये राज्य जल्द ही परीक्षाओं के आयोजन पर फैसले ले सकते हैं.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

source:news18

0Shares
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: