Corona: देश में यहां खोला गया ‘काढ़ा कैफे’, मौसम के हिसाब से सर्व की जाएगी हर्बल ड्रिंक

कोरोना महामारी के चलते लोगों की लाइफस्टाइल में बड़ा परिवर्तन आया है. मास्क लगाना अब ‘न्यू नॉर्मल’ हो गया है. जिसके चलते मार्केट में तरह-तरह के डिज़ाइनर मास्क भी आ गए हैं. वहीं दूसरी ओर बिना सैनीटाइजर साथ में लिए कोई अब घर से बाहर ही नहीं निकलता है. एक-दूसरे की कंपनी एन्जॉय करने वाला इंसान अब सबसे सोशल डिस्टेंसिंग मेन्टेन कर रहता है. संक्रमण से बचने के लिए तमाम तरह के घरेलू उपाय अपनाने की सलाह भी दी जाती है. ऐसे में ज्यादातर लोग रेगुलर काढ़ा, हल्दी दूध पीते रहते हैं. इसी से प्रेरित होकर उत्तर प्रदेश में ‘काढ़ा कैफे’ खोला गया है.

कोविड-19 से निपटने के लिए एक नई पहल के तहत उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले के लोढ़ा गांव में एक काढ़ा कैफे (Kadha Cafe) खोला गया है. रविवार को खुलने वाला ये कैफे लखनऊ के कवि और केंद्रीय औषधि अनुसंधान संस्थान (CDRI) के टेक्निकल ऑफिसर पंकज प्रसून ने खोला है, और यह “कोविड -19 से गांवों को बचाओ अभियान का एक हिस्सा है.

गांव के कोविड केयर एंड हेल्प सेंटर में खोला गया काढ़ा कैफे

प्रसून ने बताया, ‘ये काढ़ा कैफे गांव के कोविड केयर एंड हेल्प सेंटर में खोला गया है. कैफे में औषधीय जड़ी बूटियों से बना काढ़ा मुफ्त में परोसा जाएगा. अन्य गांवों में भी ऐसे 10 कैफे खोले जाएंगे.’ कैफे के लॉन्च के दौरान गांव वालों को स्टीम इनहेलर भी बांटे गए. पंकज प्रसून ने कहा, ‘मौसम की स्थिति के अनुसार काढ़ा का नुस्खा बदल जाएगा. शरीर के तापमान को बढ़ाने वाले कुछ मसालों को गर्मियों में बाहर रखा जा रहा है. हम विशेषज्ञों की सलाह पर ऐसा कर रहे हैं.’ काढ़ा की बढ़ती जरूरत और लोकप्रियता को देखते हुए कई कंपनियों ने भी अपना प्रोडक्ट लॉन्च किया है. वहीं तमाम ई-कॉमर्स साइट भी अब काढ़ा होम डिलीवर कर रही हैं.

source:tv9news

0Shares
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: