पटना में भीषण सड़क हादसा, टैंकर और कार की टक्कर में तीन युवकों की मौत, दो घायल

पटना: बिहार की राजधानी पटना में शुक्रवार को भीषण सड़क हादसे में तीन युवकों की मौत हो गई. वहीं, दो अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. मिली जानकारी अनुसार खगौल लख से एम्स जाने वाली सड़क पर तेज रफ्तार तेल टैंकर ने ऑल्टो कार में जोरदार टक्कर मार दी. इस हादसे में कार सवार तीन युवकों की मौके पर मौत हो गई, जबकि कार सवार अन्य दो युवक गंभीर रूप से जख्मी हो गए.

निजी अस्पताल में चल रहा इलाज

घटना के बाद स्थानीय लोगों और पुलिस की मदद से सभी घायलों को पटना एम्स के नजदीक एक निजी हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया, जहां उनका इलाज किया जा रहा है. इधर, जब मृतकों और घायलों के परिजनों को घटना की सूचना मिली तो कोहराम मच गया. मृतकों में एफसीआई रोड निवासी मो. सुएब अख़्तर (20), एम्स के नजदीक छेदी टोला निवासी रोहित कुमार (18) और प्रतीक उर्फ प्रिंस (20) शामिल हैं. जबकि घायलों में बेउर निवासी अयांश और बिड़ला कॉलोनी निवासी देवेन्द्र शर्मा के बेटे हर्ष शामिल हैं. दुर्घटनाग्रस्त ऑल्टो कार सुएब की थी.

घटना के बाद स्थानीय लोगों ने सड़क जाम कर प्रशासन के खिलाफ नाराजगी का इजहार किया. इधर, खबर मिलने के बाद विधायक गोपाल रविदास अस्प्ताल पहुंचे और घटना पर अफसोस जताया. इसके बाद विधायक सड़क जाम स्थल पहुंचे और लोंगो को समझा बुझाकर सड़क जाम समाप्त कराया.

घटना के संबंध में स्थानीय लोगों ने बताया कि कार और टैंकर की रफ्तार काफी तेज थी, जिससे किसी भी वाहन के चालक को सम्भलने का मौका नहीं मिला और देखते ही देखते जोरदार आवाज के साथ टैंकर की टक्कर कार से हो गई. हादसे के बाद चालक टैंकर समेत फरार हो गया.  इधर, कार में सवार सभी युवक बुरी तरह से फंसे हुए थे. ऐसे में छेनी से कार का दरवाजा काट कर सभी को बाहर निकाला गया और पुलिस की मदद से अस्प्ताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने तीन को मृत घोषित कर दिया.

विधायक ने कही ये बात

दुर्घटना के बाद मौके पर पहुंचे विधायक गोपाल रविदास ने कहा कि मृतकों के परिजनों को दस-दस लाख रुपये का मुआवजा और घायलों का समुचित इलाज कराने की मांग प्रशासन से की गई है. विधायक ने कहा कि वे पहले से ही फुलवारी में भारी वाहनों का परिचालन रोकने और सड़क को अतिक्रमण मुक्त कराने को लेकर संघर्ष कर रहे हैं.

वहीं, सड़क जाम कर रहे लोगों ने विधायक और पुलिस प्रशासन को बताया कि दुर्घटनास्थल पर अंधेरा रहता है. यहां लाइट की व्यवस्था और वाहनों की गति पर नियंत्रण कराया जाना चाहिए.

source:abpnews

0Shares
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: