मुंबई: भांग और गांजा मिलाकर बेची जा रही थी केक-पेस्ट्री, NCB ने तीन लोगों को पकड़ा

मुंबई. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) मुंबई में ड्रग्स को लेकर पिछले एक साल ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है. इसी कड़ी में हैरान कर देने वाला एक मामला सामने आया. यहां के मलाड इलाके का एक बेकरी केक और पेस्ट्री में ड्रग्स मिलाकर बेच रहा था. NCB के मुताबिक, भारत में इस तरह का ये पहला मामला है. फिलहाल इस बेकरी से जुड़े 3 लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है.

NCB की टीम ने छापा मारकर मौके से 830 ग्राम भांग से बने केक और 35 ग्राम गांजा जब्त किया है. एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े के अनुसार, ये भारत में पहला ऐसा मामला है, जिसमें नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा भांग आधारित खाद्य उत्पादों को जब्त किया गया है. इस सिलसिले में एक महिला को भी गिरफ्तार किया गया है. NCB के मुताबिक, जगत चौरसिया नाम का एक शख्स बेकरी में ड्रग्स की सप्लाई करता था. चौरसिया को बांद्रा से गिरफ्तार किया गया. उसके पास उस वक्त 125 ग्राम गांजा था.

केस दर्ज

इस संबंध में नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सबस्टेंस एक्ट, 1985 की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. अधिकारियों के मुताबिक युवाओं में भांग वाले केक और ब्राउनी खाने का नया चलन शुरू हो गया है. अधिकारियों के मुताबिक गांजा के बजाय भांग वाले केक युवाओं को खासा पसंद है.

ड्रग्स को पकड़ना मुश्किल

एनसीबी के अधिकारी ने कहा कि कोई भी भोजन जिसमें मक्खन, तेल, दूध या कोई वसायुक्त पदार्थ होता है, उसका उपयोग मारिजुआना को संक्रमित करने के लिए किया जा सकता है. उन्होंने आगे कहा, ‘कोई भी नियमित रूप से पके हुए माल और कैनाबिनोइड्स के बीच अंतर करने में सक्षम नहीं हो सकता है, जिसमें थोड़ा हरा रंग होता है.

source:news18

0Shares
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: