E-Shram Portal: 2 लाख की इस मुफ्त सुविधा समेत सरकार श्रमिकों को दे रही कई लाभ, ई-श्रम पोर्टल पर तुरंत करें रजिस्ट्रेशन

E-Shram Portal: सरकार ने असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए ई-श्रम पोर्टल लॉन्च किया है. इस पोर्टल के जरिए देश के हर मजदूर का रिकॉर्ड रखा जाएगा. असंगठित क्षेत्र के करीब 38 करोड़ मजदूरों के लिए 12 अंकों का यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) और ई-श्रम कार्ड जारी किया जाएगा, जो पूरे देश में मान्य होगा. सरकार की इस पहल से देश के करोड़ों असंगठित कामगारों को एक नई पहचान मिलेगी.

श्रमिकों को इन योजनाओं का मिलेगा लाभ

सरकारी क्षेत्र के कर्मचारियों की घोषणा के बाद प्रधानमंत्री श्रम योगी मंडन योजना (PMSYM), प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY) और प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY) से लाभान्वित होंगे.

आपको 12 अंकों का यूनिक नंबर मिलेगा

केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्रालय असंगठित क्षेत्र के करीब 38 करोड़ मजदूरों के लिए 12 अंकों का यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) जारी करेगा. इस कदम से न केवल कल्याणकारी योजनाओं की सुवाह्यता होगी, बल्कि संकट की घड़ी में श्रमिकों को कई लाभकारी योजनाओं का लाभ भी मिलेगा.

2 लाख रुपये का मुफ्त दुर्घटना बीमा की सुविधा

यदि कोई कर्मचारी ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण करता है तो उसे 2 लाख रुपये के दुर्घटना बीमा का लाभ मिलेगा. इसमें सरकार की ओर से एक साल का प्रीमियम दिया जाएगा. यदि कोई पंजीकृत कर्मचारी किसी दुर्घटना का शिकार होता है तो उसकी मृत्यु या पूर्ण रूप से अपंग होने की स्थिति में वह 2 लाख रुपये का हकदार होगा. वहीं, आंशिक रूप से विकलांगों के लिए बीमा योजना के तहत एक लाख रुपये दिए जाएंगे.

जानें- कैसे पंजीकृत करें

  • ई-श्रम पोर्टल के आधिकारिक पेज https://www.eshram.gov.in/ पर जाएं.
  • फिर होमपेज पर, “ई-श्रम पर पंजीकरण” पर लिंक करें.
  • इसके बाद सेल्फ रजिस्ट्रेशन https://register.eshram.gov.in/#/user/self पर क्लिक करें.
  • स्व-पंजीकरण पर, उपयोगकर्ता को अपना आधार लिंक मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा.
  • कैप्चा दर्ज करें और चुनें कि क्या वे कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) या कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) विकल्प के सदस्य हैं और Send OTP पर क्लिक करें.
  • इसके बाद पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करने के लिए बैंक खाता विवरण आदि दर्ज करें और आगे की प्रक्रिया का पालन करें.

कामगारों की मदद के लिए टोल फ्री नंबर होगा, निर्माण श्रमिकों के अलावा प्रवासी श्रमिक, रेहड़ी-पटरी वाले और घरेलू कामगार शामिल हैं. उन्होंने कहा कि पोर्टल के शुभारंभ के बाद असंगठित क्षेत्र के श्रमिक उसी दिन से अपना पंजीकरण करा सकते हैं. श्रमिकों को पंजीकरण कराने में मदद के लिए एक राष्ट्रीय टोल फ्री नंबर 14434 भी शुरू किया गया है.

source:india.com

0Shares
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: