How to transfer NSC: नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट किसी और को कैसे करें ट्रांसफर, जानिए- क्या है पूरी प्रक्रिया?

How to transfer NSC: निवेशक अपना टैक्स बचाने के लिए भी नेशनल सेविंग स्कीम में निवेश करते हैं. लेकिन आज हम यहां बात कर रहे हैं कि अगर आप इस स्कीम को किसी और को ट्रांसफर करना चाहते हैं तो कैसे कर सकते हैं. कृपया ध्यान दें कि NSC VIII की परिपक्वता अवधि 5 वर्ष है और इसे बीच में केवल एक बार ही स्थानांतरित किया जा सकता है.

क्या हैं एनएससी ट्रांसफर करने के नियम?

अगर आपको एनएससी में निवेश किए 1 साल हो गए हैं, तो आप इसे दूसरे व्यक्ति को ट्रांसफर कर सकते हैं. अपना एनएससी अकाउंट ट्रांसफर करने के लिए आपको फॉर्म एनसी 34 भरना होगा. इस फॉर्म में आपको उस व्यक्ति का नाम, जिसे आप एनएससी ट्रांसफर करना चाहते हैं, ट्रांसफर करने वाले का नाम, सर्टिफिकेट का सीरियल नंबर, प्रमाण पत्र की राशि, एनएससी जारी करने की तिथि और एनएससी धारक के हस्ताक्षर.

केवाईसी भी है जरूरी

अगर आप अपना एनएससी ट्रांसफर करना चाहते हैं तो आपका केवाईसी विवरण (KYC) पूरा होना चाहिए. डाकघर में एक अधिकारी द्वारा पुराने प्रमाण पत्र की जांच की जाएगी. उस पर पोस्ट मास्टर की मुहर होगी और डाकघर की तारीख की मुहर होगी. इसके अलावा एनएससी ट्रांसफर करने वाले व्यक्ति को भी फीस देनी होगी.

कितना मिलता है ब्याज?

राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र एक सुरक्षित निवेश योजना है. अगर आप एनएससी में निवेश करना चाहते हैं तो इसमें 5 साल का लॉक इन पीरियड होता है. यानी इसमें 5 साल के निवेश के बाद पैसा मिलेगा. इसमें आपको 6.8 फीसदी का ब्याज मिलता है. इसमें कम से कम 1000 रुपये से निवेश कर सकते हैं. अगर आप बैंक से कर्ज ले रहे हैं तो आप एनएससी को सिक्योरिटी के तौर पर रख सकते हैं.

कैसे करें निवेश?

इसमें आप तीन तरह से निवेश कर सकते हैं. सबसे पहले, कोई भी अपने लिए या नाबालिग के लिए एक ही प्रकार में निवेश कर सकता है. दूसरा जॉइंट ए टाइप में दो निवेशक एक साथ निवेश कर सकते हैं और तीसरा ज्वाइंट बी टाइप में दो लोग एक साथ पैसा लगाते हैं लेकिन मैच्योरिटी पर पैसा सिर्फ एक निवेशक को दिया जाता है.

इन शर्तों को ध्यान में रखना आवश्यक है

आप 1 साल से पहले NSC ट्रांसफर नहीं कर सकते. लेकिन अगर कोर्ट एनएससी धारक की मौत की स्थिति में इसे ट्रांसफर करने का आदेश देती है तो ऐसा किया जा सकता है. इसके अलावा यह भी ध्यान रखना होगा कि जिस एनएससी को ट्रांसफर किया जा रहा है वह खरीदने लायक है. अगर एनएससी को नाबालिग को ट्रांसफर किया जा रहा है, तो अभिभावक के हस्ताक्षर जरूरी हैं.

source:india.com

0Shares
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: