Russia: विमान का पुराना होना बना ‘काल’! जमीन से टकराकर ‘आग का गोला’ बना प्लेन, छह लोगों की मौत

रूस (Russia) के सूदूर पूर्व में दुर्घटनाग्रस्त हुए एंटोनोव एएन-26 परिवहन विमान (Antonov An-26 transport plane) में सवार सभी छह लोग मारे गए हैं. ये विमान बुधवार को रडार पर से गायब हो गया था. रूसी समाचार एजेंसियों ने आपातकालीन सेवाओं के सूत्रों का हवाला देते हुए गुरुवार को विमान में सवार लोगों की मौत की जानकारी दी. माना जा रहा है कि विमान के पुराने होने की वजह से ही ये हादसा हुआ है. शुरुआती जांच के डेटा के मुताबिक, ये विमान रूस के सुदूर पूर्व में खाबरोवस्क क्षेत्र (Khabarovsk region) में एक नेचर रिजर्व में दुर्घटनाग्रस्त हुआ.

तास न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट में बताया गया कि ये विमान उस कंपनी का था, जो रूसी एयरपोर्ट (Russian airports) पर टेक्निकल चेक का काम करती है. इसने बताया कि दुर्घटनाग्रस्त हुआ विमान 42 साल पुराना था. ये विमान बुधवार को रडार स्क्रीन से गायब हो गया. आपातकालीन सेवा मंत्रालय (Emergency services ministry) ने गुरुवार को कहा कि उसे दुर्गम इलाके में विमान का मलबा मिला है और वह जमीन पर बचाव दल भेज रहा है. हालांकि, मंत्रालय ने चालक दल के मारे जाने को लेकर कोई जानकारी नहीं दी है. मगर रूसी समाचार एजेंसियों ने चालक दल के मारे जाने की पुष्टि कर दी है. इसने बताया कि विमान जमीन से टकराकर आग के गोले में तब्दील हो गया.

पुराने होते विमानों की वजह से हो रहे हैं हादसे

समाचार एजेंसी तास और इंटरफेक्स न्यूज एजेंसी ने आपातकालीन सेवाओं से सूत्रों का हवाला देते हुए कहा, शुरुआती जांच से पता चला है कि इस घटना में कोई भी नहीं बचा है. हाल के सालों में रूसी विमानन सुरक्षा मानकों में काफी सुधार किया गया है. लेकिन विमान दुर्घटनाएं विशेष रूप से दूर-दराज के इलाकों में आम बात हो गई हैं. इनमें से अधिकतर दुर्घटनाओं की वजह से पुराने विमान हैं, जो अक्सर ही रडार से गायब होकर जंगलों में क्रैश हो जाते हैं. इससे पहले, जुलाई में एंटोनोव एएन-26 ट्विन इंजन टर्बोप्रॉप पर सवार सभी 28 लोग कामचटका इलाके में मारे गए थे. ये विमान हादसा भी सूदूर पूर्व में हुआ था.

खराब मौसम और रखरखाव भी हादसों की वजह

तास की खबर के अनुसार, इससे पहले एंतोनोव ऐन-28 विमान 2012 में पेट्रोपावलोव्स्क-कामचत्स्की से उड़ान भरने के दौरान पलाना में उतरने से पहले पर्वतीय इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. उस हादसे में विमान में 14 लोग सवार थे जिनमें से 10 की मौत हो गई थी. घटना में मारे गए दोनों पायलटों के खून के नमूने में शराब के अंश मिले थे. कभी विमान से संबंधित दुर्घटनाओं के लिए जाने जाने वाले रूस ने पिछले कुछ सालों में अपने हवाई यातायात सुरक्षा में रिकॉर्ड सुधार किया है. हालांकि विमानों का खराब रखरखाव और सुरक्षा मानकों का निम्न स्तर अभी भी बरकरार है. इसके अलावा कठिन मौसम स्थिति वाले देश के अलग-अलग क्षेत्रों में उड़ान भरना भी काफी खतरनाक है.

source:tv9news

0Shares
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: