टीम इंडिया से कट चुका है इस भारतीय क्रिकेटर का पत्ता, अब IPL करियर भी खत्म होने के करीब

नई दिल्ली: भारत के एक खिलाड़ी का पिछले काफी समय से फ्लॉप शो चल रहा है, जिसके बाद 31 साल की उम्र में इस खिलाड़ी का करियर खत्म होने की कगार पर है. मनीष पांडे (Manish Pandey) काफी वक्त से खराब फॉर्म में चल रहे हैं. कई बार उन्हें मौके दिए गए हैं, लेकिन वो हर बार फ्लॉप साबित हुए. आखिरकार हैदराबाद की टीम ने सोमवार को राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ IPL मैच में मनीष पांडे को प्लेइंग इलेवन से बाहर कर ही दिया. सनराइजर्स हैदराबाद मैनेजमेंट उन्हें बार-बार मौका दे रही थी, लेकिन वो अपना प्रदर्शन सुधार नहीं पा रहे थे.

मनीष पांडे का IPL करियर खत्म होने की कगार पर

मनीष पांडे का टीम इंडिया से पत्ता तो पहले ही कट चुका है और अब आईपीएल में भी इस खिलाड़ी का करियर खत्म होने की कगार पर है. मनीष पांडे ने आईपीएल 2021 के 7 मुकाबलों में 37.16 की मामूली औसत और 114.35 की स्ट्राइक रेट से 223 बनाए. हालांकि वो इस सीजन में 2 फिफ्टी लगा चुके हैं, लेकिन अपनी टीम सनराइजर्स हैदराबाद की नैया पार कराने में नाकाम रहे हैं.

टीम इंडिया के दरवाजे भी बंद 

हाल ही में हुए श्रीलंका दौरे पर मनीष के पास शानदार मौका था, लेकिन एक बार फिर वो फेल हुए. आईपीएल 2021 में मनीष पांडे सनराइजर्स हैदराबाद की टीम के लिए कमजोर कड़ी साबित हो रहे थे. मनीष पांडे की फ्लॉप बल्लेबाजी के कारण पूरा मिडिल ऑर्डर तहस-नहस हो जाता, जिस वजह से टीम को भारी नुकसान उठाना पड़ता है. इस खिलाड़ी को एक वक्त पर टीम इंडिया का भविष्य माना जाता था, लेकिन इनका बल्ला ज्यादातर शांत रहा. ऐसे में टीम इंडिया में तो अब उन्हें मौका मिलना मुश्किल है.

टी20 वर्ल्ड कप से भी कटा पत्ता

मनीष पांडे का टीम इंडिया से पत्ता तो पहले ही कट चुका है और अब आईपीएल में भी इस खिलाड़ी का करियर खत्म होने की कगार पर है. गौरतलब है कि मनीष का आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप 2021 के लिए भारतीय स्क्वाड में जगह नहीं मिली है.

क्या खत्म हुआ मनीष पांडे का करियर?

मनीष पांडे ने टीम इंडिया के लिए शानदार डेब्यू किया था. उन्होंने साल 2015 में जिंबाब्वे के खिलाफ 86 गेंदों पर 71 रन बनाए थे. इसके बाद अगले ही साल उन्होंने सिडनी में 81 गेंदों पर 104 रन बनाए और टीम की जीत पक्की की. लेकिन इसके बाद वो  टीम इंडिया से लगातार अंदर बाहर होते रहे. इंजरी ने भी उनसे कई बड़े मौके छीने. शानदार शुरुआत को वो बड़े करियर में तब्दील नहीं कर सके. ऐसे में लग रहा था कि ये उनका आखिरी मौका हो सकता है खुद को साबित करने का, लेकिन यहां भी वो फ्लॉप रहे.

श्रीलंका दौरे पर फ्लॉप हुए थे मनीष पांडे

श्रीलंका के खिलाफ तीनों वनडे में मनीष पांडे (Manish Pandey) को मौका दिया गया लेकिन वो खुद को साबित नहीं कर सके. वो तीनों मैचों में फेल रहे. पहले मैच में उन्होंने 26 रन बनाए, दूसरे वनडे में मनीष ने 37 रन बनाए जबकि तीसरे वनडे में वो 19 गेंदों में 11 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. जिस तरीके से उन्होंने प्रदर्शन किया है उनका करियर खत्म होते हुए नजर आ रहा हैं.

source:zeenews

0Shares
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: